https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers
HomeENTERTAINMENTफिल्म फन्ने खान का गाना 'मेरे अच्‍छे दिन कब आएंगे' भाजपा...

फिल्म फन्ने खान का गाना ‘मेरे अच्‍छे दिन कब आएंगे’ भाजपा विरोधियो का बन सकता है नारा

लखनऊ (सवांददाता) ‘मेरे अच्‍छे दिन कब आएंगे’ आप सोच रहे होंगे कि मै शायद मोदी सरकार पर तंस कर रहा हूँ, लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है हांलाकि कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पूर्व कहा था कि अच्छे दिन आने वाले है| आज उनकी विरोधी पार्टिया कहती हुई नजर आ रही है कि ‘मेरे अच्‍छे दिन कब आएंगे’| लेकिन इस मामले पर मेरा मोदी जी से कोई लेना देना नहीं बल्कि मेरा तात्पर्य बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता अनिल कपूर की फिल्‍म फन्ने खान का तीसरा गाना ‘मेरे अच्‍छे दिन कब आएंगे’ से है| इस गाने को लता मंगेशकर ने रिलीज किया है। गाने में देखा जा सकता है कि, यह गाना पूरी तरह से अनिल कपूर पर फिल्‍माया गया है जिसमें वह टैक्‍सी चलाते हुए एक आम आदमी का किरदार निभाते नज़र आ रहे हैं। अनिल कपूर इस फिल्‍म में टैक्‍सी चला कर अपनी बेटी को एक रॉकस्‍टार बनाने का सपना देखते हैं। फिल्म फन्ने खान में ख़ुद मोहम्मद रफ़ी न बन पाने का दुःख उस सपने से कहीं ज़्यादा छोटा है जिसमें एक बाप अपनी बेटी को लता मंगेशकर बनना चाहता है। कुछ ऐसी ही कहानी के साथ बनी इस फिल्म फन्ने खान का तीसरा गाना रिलीज़ किया जा चुका है जो बहुत इमोशनल है। इस गीत में अनिल कपूर अच्छे दिनों के तलाश में हैं और पूछ रहे हैं कि अच्छे दिन कब आएंगे। इस खूबसूरत गीत को इरशाद काम‍िल ने ल‍िखा है। अमित त्रिवेदी ने इसे अपनी आवाज में गाया है। 
आपको बताते चले कि इस फिल्‍म में अनिल कपूर और दिव्या दत्त पति-पत्नी के किरदार में नजर आएंगे। वहीं राजकुमार राव अनिल कपूर के दोस्‍त बने हैं, जो उनके सपनों को हकीकत में बदलने में मदद करते हैं। यह फिल्‍म 3 अगस्‍त को सिनेमाघरों में अपनी आमद दर्ज करेंगी|

फिल्म के बारे में बात करें तो अनिल कपूर एक टैक्सी ड्राइवर की भूमिका निभा रहे हैं, जिन्हें संगीत से बेहद प्यार है। फनकार हैं और ट्रम्पेट भी बजाते हैं। उनकी बेटी को गाने का शौक है। वो लता मंगेशकर बनना चाहती है। ऐश्वर्या बच्चन एक परफॉर्मर हैं और अनिल कपूर अपनी बेटी के सपने को पूरा करने के लिए एक दिन अपने साथी राजकुमार राव की मदद से उसका अपहरण कर लेते हैं। फिल्म में पीहू संड ने अनिल कपूर की बेटी की भूमिका निभाई है। फिल्म के जरिये ये बताने की कोशिश की गई है कि फन्ने खान एक कलाकार, जादूगर या कमाल का बेवकूफ़ भी हो सकता है, लेकिन ये फन्ने खान सबसे अलग है।

राकेश ओम प्रकाश मेहरा के प्रोडक्शन में बनी इस फिल्म को अतुल मांजरेकर ने डायरेक्ट किया है। ताल और टैलेंट के बीच की इस कहानी को लेकर टैग लाइन दी गई है कि हर आदमी में एक फन्ने खान होता है। फन्ने खान के जरिये अनिल कपूर और ऐश्वर्या बच्चन 19 साल बाद साथ नज़र आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read