https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers
HomeCITYशहंशाह बिल्डिंग में हुआ तरही मसालमा, शायरों ने पेश किया तरही कलाम

शहंशाह बिल्डिंग में हुआ तरही मसालमा, शायरों ने पेश किया तरही कलाम

लखनऊ (सवांददाता) हज़रत इमाम हुसैन (अ.स ) के छः माह के बेटे जनाबे अली असग़र (अ.स ) की शहादत की याद में हर बरस की तरह आज भी लखनऊ के नक्खास इलाके में स्थित शहंशाह बिल्डिंग में तरही मसालमे का आयोजन हुआ | ये मसालमा शायरे अहलेबैत डॉक्टर आरिफ रज़ा लखनवी की ओर से किया जाता है | आज के मसालमे का आग़ाज़ तिलावते कलामे पाक से हुआ | आज के इस प्रोग्राम की निज़ामत शायर मुनीर आलम ने की और इसके कन्वीनर शायर शुमूम आरफी थे | आज के इस मसालमे में दिया गया मिसरा उस्ताद तजस्सुस ऐजाज़ी का था | जिस मिसरे पर शायरों ने अपना सलाम पेश किया वो मिसरा ” मेरी पहचान ज़िक्रे असग़रे बेशीर हो जाये ”था | इस मिसरे में ज़ंजीर ,शमशीर , तक़दीर वग़ैरह क़ाफिये थे और इसकी रदीफ़ हो जाये मुक़र्रर की गई थी | मसालमे में जिन शायरों ने तरही कलाम पेश किया उनमें तजस्सुस ऐजाज़ी, एजाज़ ज़ैदी , नय्यर मजीदी, हसन फ़राज़ , फिदवी नक़वी , बर्क़ लखनवी ,रज़ा लखनवी , हिलाल नक़वी , हुसैन नासिर , शुमूम आरफी, हबीब शारबी , ज़की भारतीय , शबाहत हुसैन (विजेता), सय्यद रिज़वी , ताहिर एडवोकेट , शान लखनवी वगैरह शामिल थे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read